होम  -  जे. एस. के.  के संबंध में  -  जे. एस. के. की निधि
पर्यवलोकन
जे.एस.के.  के कार्य
जे.एस.के.  किस प्रकार भिन्न है?
जे.एस.के.  की निधि
सदस्यता का पंजीकरण
दान और अंशदान
जिला स्तर पर स्वास्थ्य संबंधी आंकड़े
 

विश्व की जनसंख्या

भारत की जनसंख्या

जनसंख्या का विषय
 महत्वपूर्ण क्यों है ?
सरलीकृत जनसंख्या की अवधारणा
सरकार के प्रचलित कार्यक्रम
जनसंख्या से संबंधित संपर्क

यौन और जनन स्वास्थ्य पर 
प्राय पूछे जाने वाले प्रश्नः

  सीधे उत्तर

कोष की निधि में निम्नलिखित सम्मिलित हैं :
  •  केन्द्र सरकार या कोष के किसी भी सदस्य से प्राप्त अनुदान।
  • सोसायटियों, संस्थाओं से प्राप्त अनुदान।
  • व्यक्तियों और निकायों से प्राप्त दान या चंदा।
  • अन्य स्रोतों से प्राप्त आय।

जब तक अन्यथा विनिर्दिष्ट न किया जाए तब तक सभी अनुदानों, दान और चंदा को कोष की समग्र निधि के लिए अनुदान, दान और चंदा के रूप में माना जाता है। कौई भी निधि शासी बोर्ड द्वारा स्वीकार नहीं की जाएगी क्योंकि ऐसा करना कोष के लक्ष्यों और उद्देश्यों के विपरीत होगा।

इस समय जे. एस. के की समग्रनिधि में 100/- करोड़ रूपये हैं जो रिजर्व बैंक के सहायता बॉर्डों में निवेश किए गए हैं। इस धनराशि से प्राप्त ब्याज का उपयोग जे. एस. के. के कार्यों को आगे बढ़ाने में किया जाता है। इस धनराशि में चंदा और सदस्यता शुल्क के रूप में प्राप्त धनराशि को शामिल किया जाता है, जिसका उपयोग नवीन परियोजनाओं और उन तकनीकों पर किया जा सकता है जिनसे लोग गर्भनिरोध जनन और बाल स्वास्थ्य के क्षेत्र में सूचना व सेवाएं प्राप्त कर सकें।

 

 

New Page 2

  प्रतिलिपि अधिकार 2007,  जनसंख्या स्थिरता कोष , सर्वाधिकार सुरक्षित